ibhnlp blog

NLP Certification in India

Extracts from the book ‘NLP – The Journey of Inner World'

NLP Book

हिंदी में पढ़ने के लिए नीचे स्क्रोल करें |

 

Extracts from the book ‘NLP –Journey of Inner World’ by Sandip Shirsat

About Book in Short

This excellent NLP book will surely prepare you for upcoming NLP Practitioner and covers most important nine life aspects and gives you activities to reflect on. 

Following paragraphs are extracted from Original Book.

From the author’s Desk...

Welcome to the miraculous and amazing world of NLP! First of all, thanks for reading this book and being keen on learning NLP! I hope, the way NLP changed my Life and the Lives of thousands of others, so will it change yours as well. I’m very much sure that this book and the training of NLP Practitioner will change your Life ... forever.

With the powerful tools of NLP, we can create a personality that will have the ability to change its own thinking, attitude, perceptions & beliefs. It will have the knack of creating the desired outcomes by establishing control over one’s own mind. It will have the magic to change the Life of oneself and those of others. Not only this, through NLP, we will also learn some finest and powerful tools of brain conditioning, which can control & guide our mind and ultimately our Life. Simultaneously, setting up goals and conditioning or programming them in our brain can also be done.

 

Following Paragraph is extracted from Chapter 1. Neuro-Linguistic Programming - The Better Way towards Abundance

…. For the last few years, I am studying the lives of successful and unsuccessful people. I can surely claim from whatever I learnt that ‘different and better use’ of the brain is the prime deciding factor of success or failure. In addition to this, I would like to say: the higher the level of ‘different and better use’ of the brain, the higher the level of success and rewards in personal & professional life. If you master this skill, it will give you higher earnings, lifetime job security or better progress in business….

 

Following Paragraphs are extracted from Chapter 2. The Sense of Self Responsibility

…. I truly believe that whatever is happening in our life, may be very negative and painful, we cannot refuse our contribution in it. Perhaps you might say that we didn’t do anything. May be due to that doing nothing, the problem has probably become more severe or complicated. Don’t you think that whatever happens with us, in almost all of those cases, knowingly or unknowingly, we are also contributing to it whether we accept it or not? Perhaps we may not be contributing in that incident, but you cannot refuse your contribution in responding to it.

Now, think with a different perspective. You reacted in a particular way to whatever has happened. What would have happened if you had reacted differently than you have actually reacted? There is a dense possibility that the result of whatever had happened would have been very different than it is today. This only proves that the result was produced through your behaviour or at least you opened gates for those results. ….

 

Following Paragraphs are extracted from Chapter 8. Strong Urge for life Transformation

…. Whenever change happens, happens within a moment. That moment creates our future. Life changes in a split second, but when does this split second come? How does it come in one’s life? Why does it come only in a particular person’s life? Where does it come from? Whenever something changes in life, four things need to happen in our brain.

1.      First of all, we should have the clear-cut idea about what exactly is to be changed. If we don’t know what is to be changed, then change won’t take place. Most of the time, whole life is spent in sleep. Our negative habits & emotions become so habitual that we stop seeing the obvious fact that they are spoiling our life. That’s why a clear-cut idea of what is to be changed is necessary. For this, we need awareness at first. Most of the times, there is an illusion of change instead of real change. You would find many people saying, ‘something is missing in life,’ but can anything change with that? Not at all. What do you really want to change in your life? Do you have the clear & exact idea of what is to be changed in your life? ….

Likewise, Book Contains:

  • Powerful Life Transforming Ideas
  • Stories
  • Exercises at the End of Each Chapter
  • Thought Provoking Questions
  • Experiments
  • Scientific Research, etc.

About Author

Master NLP Trainer Sandip Shirsat is the Founder & CEO of IBHNLP. He is a well-known NLP Master Trainer, Hypnotist, Life Coach, Public Speaker & a renowned NLP Blogger.

 

किताब के बारे में संक्षेप में ...

एन.एल.पी. के सन्दर्भ में लिखी उमदा किताबों में से एक, जो आपको एन.एल.पी. प्रैक्टिशनर वर्कशॉप के लिए तैयार करेगी और आपके जीवन के नौ महत्वपूर्ण पहलुओं पर प्रकाश डालेगी |

नीचे दिए गद्यांश प्रस्तावना – ‘लेखक की कलम से...’ से उद्धृत हैं |

एनएलपी के जादुई और ताकदवर जगत में आपका स्वागत है । सबसे प्रथम, यह पुस्तक पढ़ने और एनएलपी सीखने में उत्सुक होने के लिए धन्यवाद ! उम्मीद है कि एनएलपी से जिस प्रकार से मेरा और दूसरे हजारों लोगों का जीवन परिवर्तन हुआ, उसी प्रकार आपका भी होगा । दर असल मुझे पूरी उम्मीद है कि यह किताब और एनएलपी प्रॅक्टिशनर की ट्रेनिंग आपकी जिंदगी बदल देगी...हमेशा के लिए ।

एनएलपी के ताकवर टूल्स् के जरिए हम एक ऐसे व्यक्तित्व का निर्माण कर सकते हैं, जिसके पास स्वयं की सोच, दृष्टिकोन और धारणाओं को बदलने की क्षमता हो । स्वयं के दिमाग पर नियंत्रण प्रस्थापित कर मनचाहा परिणाम निर्मित करने की कला  हो । स्वयं के और दूसरों के जीवन को परिवर्तित करने की जादू हो । इतना ही नहीं एनएलपी के जरिए हम ब्रेन कंडिशनिंग के कुछ बेहतरीन और ताकदवर टूल्स् भी सीख सकते हैं, जिससे स्वयं के दिमाग और अंततः जिंदगी को नियंत्रित कर दिशा दे सकते हैं । साथ ही साथ लक्ष्य की स्थापना और खुद के दिमाग में उस लक्ष्य की कंडिशनिंग या प्रोग्रॅमिंग भी कर सकते हैं ।

 

नीचे दिया गद्यांश प्रकरण १ – ‘एनएलपी - ज्यादा समृद्ध जीवनशैली की राह’ से उद्धृत है |

…. पिछले कुछ सालों से मैं सफल और असफल लोगों के जीवनियों का अभ्यास कर रहा  हूँ । इससे मैंने जो सिखा, उससे मैं यह दावें के साथ कह सकता हूँ, कि स्वयं के दिमाग का ‘अलग और बेहतर इस्तेमाल’ सफलता या असफलता तय करने वाला मुख्य घटक होता है । साथ ही साथ दिमाग का ‘अलग और बेहतर इस्तेमाल’ का स्तर जितना ऊँचा होता है, व्यक्तिगत जीवन और उद्योग उतना ही ज्यादा सफल और लाभदायक होता है । अगर आपने इस कौशल में महारत हासिल कर ली, तो आपका यह कौशल आपको ऊँची आमदनी, नौकरी की आजीवन सुरक्षा या व्यवसाय में बेहतरीन प्रगति प्रदान कर सकता है । ….

 

नीचे दिए गद्यांश प्रकरण २ – ‘स्वयं की जिम्मेदारी का एहसास’ से उद्धृत हैं |

मुझे तो ऐसे लगता है, कि आपकी जिंदगी में जो कुछ घटता है, वह शायद बेहद नकारात्मक और दुखदायी क्यों ना हो, पर उस घटना में आप आपके योगदान को नकार नहीं सकतें । शायद आप कहेंगे कि हमने कुछ भी तो नहीं किया, पर आपके कुछ ना करने के कारण ही संभवतः समस्या और ज्यादा जटील हो चुकी है । क्या आपको नहीं लगता कि आपके साथ जो कुछ भी घटता है, लगभग उन सारी घटनाओं में जाने-अनजाने में आपका योगदान होता ही है, चाहे हम उसे स्वीकार करें या ना करें । शायद उस घटना में ना सही, पर उस पर प्रतिक्रिया देने में तो आपके योगदान को आप नकार नहीं सकतें ।

अब थोड़ा इस प्रकार से सोचें । जो कुछ घट चुका है, उसमें आपने एक तरह से बर्ताव किया । अगर आपने उस तरह से बर्ताव ना करते हुए अलग तरीके से बर्ताव किया होता तो? बहुत संभावना यह है कि जो घट चुका है, उसका परिणाम आज जो है, उससे जरूर अलग होता । इसका मतलब ही यह हुआ कि आपके बर्ताव से परिणाम निर्मित हुए या कम से कम आपने परिणामों को निर्मित होने के लिए एक रास्ता खोल दिया ।

 

नीचे दिए गद्यांश प्रकरण ८ – ‘जीवन रूपांतरण का प्रबल एहसास’ से उद्धृत हैं |

…. याद रखना, जब भी बदलाहट होती है, वह पलभर में होती है । जिंदगी में जब भी असामान्य परिवर्तन आता है वह सिर्फ पलभर में आता है । जिंदगी जब विपरीत दिशा में यात्रा करने लगती है यह भी होता है सिर्फ पलभर में । वह पल हमारे भविष्य का निर्माण करता है । पर वह पल कब आता है? कैसे आता है? क्यों आता है? कहाँ से आता है? अगर जिंदगी में आपको कुछ भी बदलना हो तो दिमाग में चार बातें घटना जरूरी होती हैं ।

1. सबसे पहले जो कुछ भी आपको बदलना है, उसके बारे में सटीक जानकारी होनी चाहिए । अगर मुझे यह पता ही नहीं है कि मुझे बदलना क्या है? तो बदलाहट नहीं होगी । बहुत बार जिंदगी नींद में कट जाती है । हमें हमारे नकारात्मक आदतों और भावनाओं की इतनी आदत हो जाती है कि इससे जिंदगी खराब हो रही है, यह भी देखना हम बंद कर देते हैं । इसीलिए क्या बदलना है, उसकी सही जानकारी होना आवश्यक है । इसीलिए सबसे पहले जागरूकता, अवेरनेस होना चाहिए । बहुत बार बदलाहट का भ्रम होता है, साफ साफ कुछ भी नहीं होता । बहुत लोग आम तौर पर यह कहते हैं कि जिंदगी में कुछ तो मिसींग है । पर इससे क्या कोई बदलाहट हो सकती है? बिलकुल नहीं । आपको आपके जीवन में क्या बदलना है? क्या आपको उसकी ‘स्पष्ट और सटिक’ जानकारी है?

साथ ही साथ इस किताब में आपको मिलेगा :-

  • जीवन रूपांतरण के लिए कुछ बेहतरीन टूल्स
  • कहानियाँ जो आपकी जिंदगी बदल दें
  • हर प्रकरण के अन्त में कार्याभ्यास जो आपको एक्शन लेने के लिए मदद करेगा
  • आपके विचारों को उद्दीपित करनेवाले कुछ महत्वपूर्ण सवाल
  • कुछ वैज्ञानिक खोजें इ.

 

लेखक के बारे में -

- एन.एल.पी. मास्टर ट्रेनर

- हिप्नोटिस्ट

- लाइफ कोच

- पब्लिक स्पीकर

- ब्लॉगर

Sandip Shirsat NLP Master Trainer
Sandip Shirsat

Founder & CEO of IBHNLP

blog_offer
blog_offer
Downloaded Over
30,000 Times

Learn 6 secrets to make your NLP Training succeed?

This will save your money & Valuable time.
Get it absolutely FREE.

*Mandatory